शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी ने किया धान क्रय केन्द्रों व गौशालाओं का किया स्थलीय निरीक्षण

शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी ने किया धान क्रय केन्द्रों व गौशालाओं का किया स्थलीय निरीक्षण

अमेठी (उत्कर्ष धारा 24) शासन द्वारा नामित जनपद नोडल अधिकारी/अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा श्रीमती मोनिका एस. गर्ग ने आज जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार के साथ गौरीगंज व जामों धान क्रय केंद्र का निरीक्षण किया। गौरीगंज धान क्रय केंद्र निरीक्षण के दौरान केंद्र प्रभारी प्रमोद कुमार ने बताया कि केंद्र का लक्ष्य 80000 कुंतल है, जिसमें से अब तक 592 किसानों से 32408 कुंतल की खरीद की जा चुकी है, जिसमें से 27600 कुंतल मिल को भेजा गया है तथा 540 किसानों का भुगतान किया जा चुका है केंद्र पर अभी तक 630 किसानों को टोकन जारी किया गया है। इसी प्रकार जामों केंद्र प्रभारी मंजुला सिंह ने बताया कि केंद्र का लक्ष्य 60000 कुंतल है, जिसमें से अब तक 502 किसानों से 28720 कुंतल की खरीद की जा चुकी हैं, जिसमें से 25200 कुंतल मिल को भेजा जा चुका है उन्होंने बताया कि अब तक 350 किसानों का भुगतान किया जा चुका है तथा अब तक 600 किसानों को टोकन जारी किया जा चुका है।

  • धान क्रय केंद्रों पर किसानों को ना हो किसी प्रकार की परेशानी........अपर मुख्य सचिव।
  • किसानों का समयांतर्गत भुगतान करना सुनिश्चित करें संबंधित अधिकारी........अपर मुख्य सचिव।
  • नोडल अधिकारी ने भटगवां स्थित गौ-आश्रय स्थल का किया निरीक्षण।
  • सभी गौशालाओं पर त्रिपाल की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई.......जिलाधिकारी।

नोडल अधिकारी ने कहा कि क्रय केंद्रों पर किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो, उनका धान जारी टोकन के अनुसार ही खरीदा जाए, किसानों को केंद्र पर इंतजार ना करना पड़े तथा उनके भुगतान की कार्यवाही समय से सुनिश्चित की जाए, इसके साथ ही उन्होंने धान सीधे किसानों से खरीदने के निर्देश दिए उन्होंने कहा कि क्रय केंद्रों पर बिचौलिए ना आए। उन्होने वहां पर तौल कांटे, बोरे, छलनी, धान में नमी नापने की मशाीन आदि का गहनता से निरीक्षण किया। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानों के साथ मधुर व्यवहार रखा जाये। उन्हे अनावश्यक परेशान न किया जाये। उनकी शिकायतों का तत्काल निस्तारण कराया जाये। उन्होने निर्देश दिये निर्धारित समय में किसान के खाते में धनराशि पहुच जानी चाहिए। इसके पश्चात नोडल अधिकारी ने भटगवां स्थित गौ-आश्रय स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने शेड, भूसा/हरा चारा, पानी की व्यवस्था, आदि का निरीक्षण किया। उन्होने निर्देश दिये कि प्रतिदिन पशुओ का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाये तथा समय समय पर टीकाकरण कराया जाये। निरीक्षण के समय गौ आश्रय स्थल में 60 गौंवश मौजूद थे। उन्होने गौ आश्रय स्थल में पर्याप्त सफाई व्यवस्था तथा शीत ऋतु में शेड की पर्याप्त व्यवस्था किये जाने के निर्देश दिये। इस दौरान नोडल अधिकारी ने गौ आश्रय स्थल में मौजूद गायों को  हरा चारा खिलाया। इस दौरान जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारी को अवगत कराया कि जनपद के सभी गौ आश्रय स्थलों पर गायों को ठंड से बचाने के लिए त्रिपाल की व्यवस्था की गई है इसके साथ ही काऊ कोट की भी व्यवस्था सुनिश्चित कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि जनपद में अभी तक गो आश्रय स्थल पर ठंड के कारण किसी भी पशु की मृत्यु नहीं हुई है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, अपर जिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी गौरीगंज संजीव कुमार मौर्य, खंड विकास अधिकारी गौरीगंज शशि कुमार तिवारी, प्र0 मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी सहित अन्य संबंधित मौजूद रहे।