सास सुमन, ससुर, पति, देवर बीनू दहेज की मांग के लिए बेटी को प्रताड़ित करते थे।

सास सुमन, ससुर, पति, देवर बीनू दहेज की मांग के लिए बेटी को प्रताड़ित करते थे।

फतेहपुर।

। बेटी ने रक्षाबंधन पर आने की बात कही थी। करीब एक घंटे बाद ससुराल पक्ष का फोन आया कि बेटी की मौत हो गई है। बेटी तीन माह की गर्भवती थी। शिवपूजन का आरोप है सास सुमन, ससुर, पति, देवर बीनू दहेज की मांग के लिए बेटी को प्रताड़ित करते थे। बेटी का एक तीन साल का बेटा है। एक साल पहले ससुराल पक्ष की लापरवाही से बीमारी के कारण नातिन की भी मौत हो गई थी। घटना से शालू की मां गीता बहन प्रीति और भाई उमेश का हाल बेहाल दिखा।शहर के राधानगर इलाके में महिला की रविवार रात संदिग्ध हालात में मौत हो गई। मायके पक्ष ने दहेज के लिए ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
उधर, पति शैलू ने बताया कि मां सुमन मामा को राखी बांधने रविवार को गई थी। उनका लौटते समय कार की टक्कर से एक्सीडेंट हो गया था। उनके सिर में चोट आई थी। घर में मां को देखकर शालू बेहोश हो गई थी। उसकी हालत बिगड़ी देखकर जिला अस्पताल लेकर आए। डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। राधानगर चौकी इंचार्ज संगम लाल प्रजापति ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

असोथर थाना क्षेत्र के झाल तिराहा निवासी शिवपूजन गुप्ता की बेटी संगीता उर्फ शालू (25) की शादी पांच साल पहले राधानगर निवासी कृष्णदत्त के बेटे शैलू गुप्ता के साथ हुई थी। पिता शिवपूजन ने बताया कि बेटी से रात करीब दस बजे मोबाइल पर बातचीत हुई थी