स्वास्थ्य कार्यक्रमों में सबसे खराब प्रगति वाले एमओआईसी को कारण बताओ नोटिस

स्वास्थ्य कार्यक्रमों में सबसे खराब प्रगति वाले एमओआईसी को कारण बताओ नोटिस
अमेठी (यूडीएन24)। जिलाधिकारी अरुण कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में देर शाम स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक किया। बैठक के दौरान उन्होंने जनपद में चल रहे संचारी रोग व विशेष सर्विलांस अभियान के अंतर्गत अब तक की गई कार्यवाही की समीक्षा किया।
 
इस दौरान टीकाकरण कार्यक्रम में सबसे कम प्रगति वाले एमओआईसी भेटुआ, तिलोई व बाजार शुकुल को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश मोहन श्रीवास्तव, वरिष्ठ कोषाधिकारी आलोक राजवंशी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।
 
 मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि अभियान हेतु जनपद में 593 टीमें लगाई गई हैं, जिनके द्वारा अब तक 141855 घरों को कवर किया जा चुका है तथा 786983 व्यक्तियों का सर्वेक्षण हो चुका है, जिसमें से 10142 सैंपल जांच भेजे गए हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि सर्विलांस अभियान के तहत कोई भी घर छूटना नहीं चाहिए, उन्होंने कहा कि इस अभियान के अंतर्गत विशेष रूप से वृद्ध, गंभीर बीमारी वाले लोग, खांसी बुखार वाले व्यक्तियों का अनिवार्य रूप से सर्वेक्षण कर उनकी जांच हेतु सैंपल भेजे जाएं। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने ग्रामीण व नगरीय क्षेत्रों में विशेष साफ-सफाई, फागिंग व एंटीलार्वा स्प्रे कराने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।
 
  • जिला स्वास्थ्य समिति की जिलाधिकारी ने की बैठक दिए आवश्यक निर्देश।
  • संचारी रोग व विशेष सर्विलांस अभियान के अंतर्गत प्रत्येक घरों का किया जाए सर्वेक्षण......जिलाधिकारी।
 
 
 जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 के साथ-साथ सभी एमओआईसी शासन द्वारा संचालित अन्य स्वास्थ्य कार्यक्रमों पर भी ध्यान देते हुए उनका क्रियान्वयन प्रारंभ करें। बैठक में जिलाधिकारी ने आशाओं के भुगतान, बच्चों के टीकाकरण सहित अन्य कार्यक्रमों की समीक्षा किया।