राहल को राहत,चुनाव रद करने की याचिका खारिज

राहल को राहत,चुनाव रद करने की याचिका खारिज

नया दिला -। उच्चतम न्यायालय ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को बड़ी राहत देते हुये आज वायनाड चुनाव को रद्द करने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। शीर्ष अदालत ने याचिकाकर्ता की ओर से बार- बार किसी के पेश न होने और बहस न करने पर याचिका खारिज की है। केरल सोलर स्कैम मामले में आरोपी सरिता नायर ने वायनाड निर्वाचन क्षेत्र से राहुल गांधी के चुनाव को चुनौती दी थी। केरल उच्च न्यायालय द्वारा याचिका खारिज करने के बाद नायर ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दाखिल की थी। सरिता ने इस मामले में राज्य के विभिन्न कांग्रेस नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए थे। साथ ही राहुल गांधी पर आरोप लगाया था कि 3 उन्होंने कई मौकों पर इस संबंध में उनके पत्रों की अनदेखी की। याचिका में यह भी कहा गया था कि कूल राहुल का नामांकन पत्र अमेठी के रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा स्वाका स्वीकार किया गया था, जबकि वायनाड में इसे खारिज कर दिया दिया गया था। याचिकाकर्ता ने मांग की थी कि राहुल के चुनाव राहत,चुनाव रद निकिता के परिवार को सुरक्षा,को शून्य करार देकर रद्द किया जाये। मालूम हो कि केरल के चर्चित सोलर कांड की मुख्य आरोपी सरिता एस. नायर ने राज्य की वायनाड सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफबतौर निर्दलीय उम्मीदवार नामांकन दाखिल किया था, लेकिन उनके कागजात को रिटर्निग ऑफिसर ने इस आधार पर खारिज कर दिया था कि एक अदालत ने उन्हें तीन साल के लिए सौर घोटाला मामले में दोषी ठहराया था और 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था। उन पर सोलर घोटाले के तहत 28 आपराधिक मामले दर्ज हैंसरिता पर प्रमुख आरोप यही है कि उन्होंने अपने एक साथी की मदद से फर्जी कंपनी खड़ी की फिर उस कंपनी के माध्यम से सोलर पैनल और उसके लाइसेंस दिलाने के नाम पर राज्य भर के लोगों को ठगा। 2017 में इस मामले में गठित न्यायिक आयोग ने कहा था कि कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने ठेका हासिल कर सरकार से सब्सिडी हासिल की और फिर पैसों या यौन सुख के बदले उसे सरिता की कंपनी को दिया। ,भाई को हथियार का लाइसेंस