बांदा-टांडा हाईवे पर हादसे के बाद जाम लगाने और पुलिस कर्मियों पर हमला करने के नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया

बांदा-टांडा हाईवे पर हादसे के बाद जाम लगाने और पुलिस कर्मियों पर हमला करने के नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया
बहुआ -(फतेहपुर)। पुलिस ने मुत्तौर गांव में छापेमारी कर नीरज पाठक पुत्र जयगोपाल पाठक, सुरेंद्र यादव पुत्र श्रीपाल, मुकेश निषाद पुत्र होरीलाल, राममिलन रैदास पुत्र सौनिया, नीलू रैदास पुत्र बाबूराम, गोलू रैदास पुत्र रामस्वरूप, मनोज कुमार पुत्र बाबूराम, अशोक पुत्र माधो रैदास, जयनारायन उर्फ जैका पुत्र गंगा प्रसाद साहू को गिरफ्तार किया है। डंपर की टक्कर से 12 जून को बाइक सवार सुमित्रा देवी पत्नी बबलू निषाद निवासी खेसहन थाना गाजीपुर की मौत हो गई थी।बांदा-टांडा हाईवे पर हादसे के बाद जाम लगाने और पुलिस कर्मियों पर हमला करने के नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने आरोपियों को जेल भेज दिया है। इन पर भीड़ जुटाकर हाईवे पर जाम लगाने, लाठी-डंडे से पुलिस पर हमला, बलवा करने, लॉकडाउन उल्लंघन, सरकारी कार्य में बाधा डालने की रिपोर्ट दर्ज की गई थी।  पति बबलू और बेटे अर्पित, सनिल घायल हुए थे। इसी जगह एक पखवारे पहले हादसे में ननद, भाभी की मौत हो गई थी। पुलिस प्रशासन ने ग्रामीणों को ब्रेकर बनवाने का आश्वासन दिया था। ब्रेकर न बनने से गुस्साए ग्रामीणों ने लाठी-डंडे से पुलिस कर्मियों की पिटाई कर दी थी। हाईवे को जेसीबी से खोद डाला था। चार घंटे तक हाईवे पर बवाल हुआ था। किसी तरह पुलिस प्रशासन ने ग्रामीणों को शांत किया था। पुलिस ने ग्रामीणों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। एसओ राजीव कुमार सिंह ने बताया कि आरोपियों को जेल भेजा गया है। बाकी की तलाश की जा रही है।इन पर भीड़ जुटाकर हाईवे पर जाम लगाने, लाठी-डंडे से पुलिस पर हमला, बलवा करने, लॉकडाउन उल्लंघन, सरकारी कार्य में बाधा डालने की रिपोर्ट दर्ज की गई थी।