छ: सूत्रीय मांगो को लेकर अमेठी सपा कार्यकर्ताओं ने अमेठी जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल महोदया को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा

संवाददाता राम शंकर जायसवाल की रिपोर्ट

छ: सूत्रीय मांगो को लेकर अमेठी सपा कार्यकर्ताओं ने अमेठी जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल महोदया को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा

अमेठी (उत्कर्ष धारा 24) ।सोमवार को जनपद में सपा कार्यकर्ताओं का छ: सूत्रीय मांगो को लेकर अमेठी सपा पार्टी कार्यालय पर किया गया धरना प्रदर्शन ।

सोमवार को बढ़ती वेरोजगारी को लेकर अमेठी सपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य छात्र सभा जय सिंह यादव की अगुवाई में महामहिम राज्यपाल महोदया उत्तर प्रदेश शासन को जिलाधिकारी अमेठी के माध्यम से छ: सूत्रीय मांगो 1-बेहाल किसान, 2-महंगी शिक्षा,3-बेरोजगारी,4-निजीकरण में भ्रष्टाचार एवं नष्ट रोजगार,5-आरक्षण पर वार,6-अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के छात्रों का बी०एड० में निशुल्क प्रवेश के संबंध में, ज्ञापन सौंपा और पत्र के माध्यम से कार्यकर्ताओं ने अवगत कराया कि निदेशक समाज कल्याण द्वारा लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलसचिव को भेजे गए पत्र संख्या C-329 से अवगत हुआ है कि बी०एड० के प्रवेश में अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के छात्रों को मिलने वाले निःशुल्क प्रवेश पर रोक लगा दी गयी।

  • यदि 1 सप्ताह के अंदर हमारी मांग को नही माना गया तो हम समाजवादी नौजवान सड़कों पर प्रदर्शन करने हेतु बाध्य होंगे- सपा कार्यकर्ता

समाजवादी पार्टी का मानना है कि शासन द्वारा लिया गया यह निर्णय जहाँ संवैधानिक मूल्यों के खिलाफ है वहीं दलित व आदिवासी वर्ग के छात्रों के अधिकारों पर कुठाराघात है।
दलितों, आदिवासियों के अधिकारों के खिलाफ किसी भी निर्णय का समाजवादी  पार्टी उत्तर प्रदेश पुरजोर खिलाफत करती है और हमारी यह मांग है कि शासन द्वारा तत्काल इस आदेश को वापस लिया जाए जिससे वंचित वर्ग के छात्रों के अधिकारों को संरक्षण मिलेगा वहीं समाज के वंचित तबके के लोगों का संवैधानिक मूल्यों में भरोसा मजबूत होगा।

समाजवादी पार्टी आपसे सादर अनुरोध करती है कि उपरोक्त आदेश को वापस लेने हेतु शासन को निर्देशित करें।
यदि 1 सप्ताह के अंदर हमारी मांग को नही माना गया तो हम समाजवादी नौजवान सड़कों पर प्रदर्शन करने हेतु बाध्य होंगे।
इस मौके पर जयसिंह प्रताप यादव प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य समाजवादी पार्टी छात्रसभा , शमशाद खान प्रदीप यादव कौशलेंद्र सिंह अरुण यादव विजय यादव फरहान खान सुरेश कश्यप कुंदन पासी एवं अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे ।