ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर लगाय मनमानी करने का आरोप भदोही।

ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर लगाय मनमानी करने का आरोप भदोही।

ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर लगाय मनमानी करने का आरोप भदोही।

कार्यवाही नहीं हो रही है। यदि कार्यव कार्यवाही नहीं हो रही है। यदि कार्यव नहीं होगी तो न्यायालय का दरव खटखटाना पडेगा। राम नारायण ने व कि प्रधान ने रास्ता देने के लिए पैसा इव कराया लेकिन फिर रास्ता नही बनवा कहा ग्राम प्रधान के घर की लड जिसकी शादी हो गई है वह रोजगार से है और उसके नाम पर उनके घर का व्यक्ति काम करता है।

आरोप लगाया कि प्रधान ने मेरा पें भी कटवा दिया और जब रास्तेए में और आवास की बात करते है तो ? प्रधान केवल बहाने बाजी करते है। तरह पुरवां के रामजीत यादव, राम आ' समेत कई ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान सरकारी योजनाओं का दुरूपयोग ३ मनमानी करने का आरोप लगाते कार्यवाही की मांग की है। सरकार भले ही ग्राम प्रधानों के कार्यकाल को समाप्त कर दिया है वेकिन पांच वर्ष का कार्यकाल बीतने के बाद भी कुछ ग्राम प्रधानों के खिलाफ गांवों में आक्रोश है।

और ग्रामीण ग्राम प्रधान पर अपने कार्यकाल में मनमानी करने का आरोप लगाकर जांच की मांग कर रहे है। ग्रामीणों की समस्या तो ग्राम प्रधान लगातार ही बनी रही और कार्यकाल के बाद भी ग्रामीण प्रधानों द्वारा मनमानी की जांच की मांग कर रहे है।

एक ऐसा ही मामला डीघ ब्लाक के पुरवां गांव में देखा गया जहां के ग्रामीणों ग्राम प्रधान द्वारा मनमानी और पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए जिला प्रशासन ग्राम प्रधान के सभी कार्यों की जांच की मांग की है। इसके लिए ग्रामीण जिलाधिकारी को कई बार शिकायत कर चुके है।

ग्रामीणों का आरोप है कि शिकायत के बावजूद भी ग्राम प्रधान के कार्यों की जांच और उनपर कार्यवाही नही रही है। ग्राम पंचायत सदस्य वीरेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि केवल ग्राम प्रधान लूट घसोट करके अपनी तिजोरी भरी है। कहा कि ग्राम प्रधान एक विधायक के दाहिने हाथ है जिससे वे मनमानी करते है। और कई बार शिकायत होने के बाद भी